एक सेब के साथ आप खाते हैं 10 करोड़ बैक्टीरिया: अध्ययन

एक सेब के साथ आप खाते हैं 10 करोड़ बैक्टीरिया: अध्ययन

study says an apple carries 10 crores bacteria

सेब की पैदावार किस तरह से की जा रही है यही निर्धारित करता है कि इसपर पाए जाने वाले माइक्रोब्स फायदेमंद है या नुकसानदायक.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 12:17 PM IST
  • Share this:
‘An apple a day keeps the doctor away’ अंग्रेजी की ये कहावत तो शायद आप सबने सुनी हो जोकि काफी हद तक सच भी है. सेब में विटामिन और मिनरल्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इसमें कोई दोराय नहीं है कि सेहत के लिहाज से भी ये काफी अच्छा है. लेकिन हाल ही में हुए एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि एक सेब में करीब 10 करोड़ बैक्टीरिया पाए जाते हैं. इसलिए जब अगली बार आप सेहत बनाने के लिए सेब खाना चाहें तो इस बात को याद कर लें…बता दें कि सेब की पैदावार किस तरह से की जा रही है यही निर्धारित करता है कि इसपर पाए जाने वाले माइक्रोब्स फायदेमंद है या नुकसानदायक. शोधकर्ताओं के मुताबिक, ज़्यादातर माइक्रोब्स सेब के भीतरी भाग में पाए जाते हैं, लेकिन आप जिस हिस्से को खाते हैं उसपर पाए जाने वाले माइक्रोब्स भी आपकी सेहत पर प्रभाव डालते हैं. शोध में यह भी सामने आई है कि अगर आप आर्गेनिक विधि से उगाए गए सेबों को खाते हैं तो उसमें बैक्टीरिया की मात्रा संतुलित होती है बजाए कि साधारण विधि से उगाए गए सेबों के.

इसे भी पढ़ें: चेहरे पर जीरे से करें स्क्रब, टैनिंग की समस्या से मिलेगा छुटकारा

सेब के बारे में ये जानकारी ‘जर्नल फ्रंटियर्स इन माइक्रोबायोलॉजी’ में प्रकाशित हुई थी. इस सिलसिले में ऑस्ट्रिया के ग्रैज यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलजी के प्रफेसर गेब्रियल बर्ग ने बताया कि हम अमूमन जो खाते हैं उसके अन्दर भी बैक्टीरिया, फंगी और वायरस पाए जाते हैं. खाने के थोड़ी देर बाद तक ये हमारे पेट में इक्कठे हो जाते हैं. लेकिन जब हम खाने को पकाते हैं तो अधिकतर माइक्रोब्स खत्म हो जाते हैं. यही वजह है कि सलाद, फल और सब्जियों को कच्चा खाने की सलाह दी जाती है.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 12:16 PM IST

Loading…

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: