घर से 50 रुपये लेकर निकला था ये शख्स, अब हैं 10 हजार करोड़ का मालिक

मेनन जब दस साल के थे, तभी उनके पिता की मौत हो गई. इसके बाद उनके परिवार को संभालने वाला कोई नहीं था, क्योंकि मेनन के दादाजी अनपढ़ थे. उनकी मां भी ज्यादातर बीमार रहा करती थीं. यही वजह है कि वह बड़ी मुश्किल से स्कूली शिक्षा पा सके थे. हालांकि उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा के बाद आगे पढ़ने की काफी कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके. फोर्ब्स मैगजीन को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा है कि उन्होंने दो बार बी-कॉम की पढ़ाई पूरी करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके.

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: