घूस में कैश के साथ-साथ ब्रांडेड जूते भी लेती है पटना पुलिस, पढ़ें पूरी कहानी

केस मैनेज करने के लिए घूस में ब्रांडेड जूते लेती है पटना पुलिस, पढ़ें पूरी कहानी

हाल के दिनों में ये घूसखोरी का अनोखा मामला है जब किसी पुलिसवाले ने घूस में जूते की डिमांड की हो (सांकेतिक चित्र)

पूरा मामला पटना के दीघा थाना से जुड़ा है. आरोप के मुताबिक थानेदार ने पीड़ित से ब्रांडेड जूते की डिमांड की जिसे पूरा करने में पीड़ित को कर्ज तक लेना पड़ा.

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस की नीति रही है. खुद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) भी सराकर की दुहाई देकर अपने मातहतों को ईमानदारी बरतने की हिदायत देते रहे हैं लेकिन इन सब के बावजूद सरकार और पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे घूसखोरी (Bribe) का खेल जारी है. हम आपको बता रहे हैं पटना के एक ऐसे थानाध्यक्ष की कहानी जिन्होंने घूस में पैसे के साथ जबरन जूता भी वसूल लिया. पीड़ित ने इस मामले में न्यूज 18 से मदद की गुहार लगाई है.

जमीनी विवाद में मदद के लिए थाना गया था पीड़ित

घूसखोरी के इस खुलासे से पटना पुलिस में खलबली मची है. जूते की खरीददारी करने वाला युवक दीघा इलाके का शत्रुघ्न यादव है. दरअसल उसकी खानदानी जमीन पर पिछले कई सालों से विवाद चल रहा है. शत्रुघ्न पिछले कई दिनो से दीघा थाने का चक्कर लगा रहा था. शत्रुघ्न यादव चाहता था कि उसकी जमीन पर 144 धारा लग जाये. पिछले दिनों दीघा थाना के प्रभारी की पंकज कुमार को कमान मिली. पंकज कुमार से शत्रुघ्न जब मिला तो थानाध्यक्ष ने उससे जमीन पर 144 लगाने के एवज में पैसे औऱ जूते की मांग की.

दलाल के माध्यम से बेटे के लिए मांगे जूते

शत्रुघ्न यादव ने न्यूज 18 को बताया कि दारोगा पंकज कुमार को तत्काल सात हजार रुपये दे भी दिये लेकिन इसके तत्काल बाद पंकज कुमार ने अपने दलाल मुकेश के माध्यम से अपने बेटे के लिये ब्रांडेड जूते की डिमांड कर दी. शत्रुघ्न को थाना का दलाल मुकेश दुकान पर ले गया और 2500 रुपए का ब्रांडेड कंपनी का जूता भी पंसद किया लेकिन शत्रुघ्न के पास महज 1500 रुपये थे लेकिन दारोगा जी ने दबाब देकर 1 हजार का इंतजाम करने को कहा. अपने मित्र से शत्रुघ्न ने पैसे लिये औऱ किसी तरह जूता खरीदा. इस सारे प्रकरण की जानकारी शत्रुघ्ऩ यादव ने न्यूज 18 को उपलब्ध कराई.

अधिकारी ने दिया जांच का भरोसा

मामले को लेकर जब न्यूज 18 की टीम ने संबंधित डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर राकेश कुमार को घटना की जानकारी दी तब उन्होंने मामले की जांच करवाकर कार्रवाई करने की बात कही. घूसखोरी के इस मामले की जांच कैसे होगी और आलाधिकारी पूरे मामले में क्या कार्रवाई करेंगे यह बता पाना फिलहाल मुश्किल है लेकिन इस पूरे मामले से पटना पुलिस की वर्दी फिर से दागदार हुई है.

Loading…

रिपोर्ट- संजय कुमार

सौजन्य :न्यूज 18

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: