महिलाओं की शॉपिंग आदत से मिला बिजनेस आइडिया, 18 साल में खड़ी की 4400 करोड़ की कंपनी

महिलाओं की शॉपिंग आदत से मिला बिजनेस आइडिया, 18 साल में खड़ी की 4400 करोड़ की कंपनी

महिलाओं की शॉपिंग आदत से मिला बिजनेस आइडिया, 18 साल में खड़ी की 4400 करोड़ की कंपनी

ऑरेलिया, डब्ल्यू और विशफुल जैसे हिट ब्रांड्स वाली कंपनी TCNS 18 साल पहले शुरू हुई थी. आइए जानें उसकी रोचक कहानी के बारे में…

  • Share this:
शॉपिंग की बात हो तो हर महिला के चेहरे पर रौनक आ जाती है. इस काम के लिए शायद ही कोई महिला न कहे. अक्सर महिलाएं शॉपिंग करते वक्त पैसों के बारे में कम ही सोचती हैं. महिलाओं की इसी आदत को बिजनेस मॉडल में बदलकर बनाई TCNS (त्रिलोकी चंद, नरेंद्र सिंह)  अब करोड़ों की कमाई कर रही हैं.  आपको बता दें कि TCNS क्लोदिंग का आइपीओ (इनीशियल पब्लिक ऑफर) आ चुका है. कंपनी की 1125 करोड़ रुपये जुटाने की योजना हैं. कंपनी की वैल्यूएशन (कीमत) करीब 4400 करोड़ रुपये आंकी जा रही हैं. (ये भी पढ़ें-कभी कंपनी में मजाक बन गया था ये एंप्लॉई, अब उसी को बनाया नंबर-1)18 साल पहले हुई शुरू-कंपनी के को फाउंडर ओकांर सिंह ने फोर्ब्स इंडिया को दिए इंटरव्यु में बताया था कि महिलाओं की आवेश में आकर खरीदारी के आइडिया पर उन्होंने पहला स्टोर लाजपत नगर में सितंबर 2002 में खोला था, लेकिन ज्यादातर महिलाएं बाहर से स्टोर को देखती थी लेकिन स्टोर में दाखिल नहीं होती थी. इसीलिए उन्होने अपनी गलती से सीखते हुए स्टोर्स में बुटीक खोल दिया और 999 रुपये 2999 रुपये तक के कपड़े बचने शुरू किए. साथ ही, दुकान का साइज भी घटा दिया. आइइिया हिट हो गया और सेल्स तेजी से बढ़ने लगी.

TCNS के पीछे कौन हैं- ओकांर सिंह बताते हैं कि TCNS को उनकी पिता और उनके दादा ने शुरू किया था. इसीलिए उनकी कंपनी का नाम दादा जी के नाम पर त्रिलोकी चंद और पिता नरेंद्र सिंह पर रखा गया हैं. ओकांर सिंह के छोटे भाई अरविंद्र सिंह अपना एक्सपोर्ट का बिजनेस संभालते हैं.

घर से 50 रुपये लेकर निकला था ये शख्स, अब हैं 10 हजार करोड़ का मालिक

हिट हैं ये ब्रांड- ऑरेलिया, डब्ल्यू और विशफुल ब्रांड्स टीसीएनएस क्लोदिंग के ही हैं. इन ब्रांड्स के तहत कंपनी वुमन एथनिक और फ्यूजन वेयर बेचती है. कंपनी के पास महिलाओं के कपड़ों के कई ब्रांड हैं. कंपनी के 465 एक्सक्लूसिव ब्रांड आउटलेट्स हैं. साथ ही, कंपनी के 1469 बड़े आउटलेट्स और 1522 मल्टीब्रांड आउटलेट्स हैं. (ये भी पढ़ें-चाय वाले की बेटी ने छोड़ दिया था स्कूल, अब मिली अमेरिका में 2 करोड़ की स्कॉलरशिप)

आईपीओ खुला- टीसीएनएस क्लोदिंग का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया है. निवेशक 20 जुलाई तक इस इश्यू में पैसा लगा सकते हैं. इश्यू के लिए 714 रुपये से 716 रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया है. इश्यू के जरिए कंपनी की 1125 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. टीसीएनएस क्लोदिंग के आईपीओ का लॉट साइज 20 शेयरों का होगा. आपको बता दें कि इस आईपीओ पर प्रभुदास लिलाधर, हेम सिक्योरिटीज की सब्सक्राइब करने की सलाह है. हालांकि चॉइस ब्रोकिंग ने इससे दूर रहने की राय दी है. (ये भी पढ़ें-ठेले पर बेचती थी चाय-समोसे, मेहनत से चमकी किस्मत तो बन गई 14 रेस्तरां की मालकिन)

Loading…

सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत में टीसीएनएस क्लोदिंग के मैनेजिंग डायरेक्टर, अनंद डागा ने बताया कि एंकर इन्वेस्टर्स से 337 करोड़ रुपये की रकम जुटाई है. कंपनी पर कोई कर्ज नहीं है. साथ ही, कंपनी के तीनों ब्रांड में ग्रोथ की काफी संभावनाएं हैं. वहीं ओएफएस के बाद कंपनी में प्रोमोटरों का हिस्सा 43.7 फीसदी से घटकर 32.5 फीसदी रह जाएगा. (ये भी पढ़ें-इस आइडिया के दम पर सांभवी ने एक साल में खड़ी की 20 करोड़ की कंपनी)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सक्सेस स्टोरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2018, 1:16 PM IST

Loading…

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: