सिर्फ एक हफ्ते में पेट की चर्बी ख़त्म करने के 17 असरदार टिप्स

एक हफ्ते में पेट की चर्बी कैसे दूर करें?

एक हफ्ते में पेट की चर्बी कैसे दूर करें?

आजकल मोटापा और् पेट की चर्बी एक सामान्य स्वस्थ्य समस्या है.दुनिया में करोड़ो लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं.पेट की चर्बी की वजह से न सिर्फ शारीरिक बनावट भद्दी दिखती है बल्कि इस्सके वजह से डाइबिटीज ,हार्ट अटैक ,और PCOS जैसी गंभीर बीमारियां भी पैदा होती हैं.सौभाग्यवश आप जल्द ही इस पेट की चर्बी से छुटकारा पा सकते हैं सिर्फ सही प्लानिंग और तौर तरीके अपना कर।

यहां हम आपको जल्दी से पेट की चर्बी घटाने के असरदार तरीके बताएंगे।कृपया आगे पढ़े।

नोट : आप इन तरीको को अपनाकर संभवतः इतनी जल्दी सिर्फ सात दिनों में तराशा हुआ सुन्दर समतल पेट नहीं पाएंगे पर इनसे आपका बढ़ा हुआ पेट काफी हद तक घटेगा और आपकी शारीरिक मेटाबोलिज़म भी एक्टिव हो जाएगा।अपेक्षा अनुकूल परिणाम के लिए आपको इन्हे काम से काम एक महीने तक फॉलो करना होगा।

एक हफ्ते में पेट की चर्बी कैसे दूर करें?

1 मेथी के बीज (Fenugreek seed ) के पानी के साथ दिन की शुरुआत करें।

मेथी के बीज (Fenugreek seed )

मेथी के बीज (Fenugreek seed )

एक कप (375 ml ) पानी में दो चम्मच मेथी के बीज डालें और इसे रातभर भिगो कर रखे।

सुबह उठ कर सबसे पहले इसके पानी को पिए। मेथी के बीज में वसा काम करने की प्रवृति होती है। अगर आपको हाइपोग्लाइसीमिया है तो बेहतर है की आप इसके जगह निम्बू पानी में शुद्ध शहद दाल कर पिए।

2 हाई प्रोटीन नाश्ता करे

प्रोटीन युक्त डाइट वजन कम करने में अहम भूमिका निभाती है. प्रोटीन युक्त डाइट शरीर को एनर्जी देने के साथ कैलोरी भी अधिक मात्रा में बर्न करती है. इससे वजन कम होने में मदद मिलती है। सुबह ऐसा नाश्ता ग्रहण करे जिसमे प्रोटीन की मात्रा अधिक हो जैसे प्रोटीन पाउडर से बने पदार्थ,मांसाहार और  अण्डे जो की आपको लम्बे समय तक ऊर्जावान बनाए रखेंगे। प्रोटीन लम्बे समय में पचता है अतः ये आपकी संतुष्टि को कायम रखेगा।प्रोटीन आपके लीन मसल्स को भी बनाता है और इससे आपकी मेटाबोलिज्म बढ़ती है।

high protein breakfast

high protein breakfast

3 पर्याप्त मात्रा में पानी पिए

बहुत सारे शोधो से पता चला है की पानी शारीरिक ताप को नियंत्रित करता है,और शरीर से अनवांछित टॉक्सिन्स को बहार निकलता है ,इंफ्लमैशन घटता है,वसा को मोबिलाइज करता है। अतः जितना अधिक पानी ले सके उतना ही अच्छा है।पेट की चर्बी घटने में पानी बहुत असरदार है।

4 फाइबर युक्त भोजन ज्यादा ले.

हाई फाइबर वाले भोजन संतुष्टि बनाए रखते है ये खाद्य पाचन में एक जेल जैसा परत बनाते हैं साथ ही अच्छे बैक्टीरिया के लिए भोजन होते हैं।ये बैक्टीरिया वसा को शार्ट चैन फैटी एसिड में बदल देते है जो वसा को काम करता है। इससे पेट की चर्बी जल्दी काम होती है। फाइबर digestion में बहुत मदद करते हैं।

high fiber foods

high fiber foods

5 थोड़े थोड़े अंतराल पे अल्पाहार

आप एक बार में कितना भोजन का कितना हिस्सा लेते है ये महत्वपूर्ण है। कैलोरी घटने के लिए थोड़े थोड़े अंतराल पे छोटा अल्पाहार लेना चाहिए ताकि कैलोरी इन्टेक काम हो।

healthy snacks and  nuts

healthy snacks and nuts

आपके प्लेट में हरी सब्जी,कार्बोहाइड्रेट्स ,प्रोटीन और whole grains की संतुलित मात्रा रेहनी चाहिए।2 से 3 घंटे में एक बार भोजन ले। दो बड़े आहार के बीच में कुछ हेअल्थी स्नैक्स ले।

 6 रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स और शुगर कम करे

रिसर्च से साबित हुआ है की रिफाइंड कार्ब्स और चीनी के उपयोग से मोटापा बढ़ता है।  तुरंत पांच जाते हैं इसलिए भूख अधिक लगती है और ब्लड में शुगर लेवल बढ़ता है।

refined carbohydrates and sugars

refined carbohydrates and sugars

वसा का जमाव भी बढ़ता है और वजन बढ़ता है। इसलिए बर्गर ,पिज्जा , पेस्ट्री ,केक ,सोडा ,कोक इत्यादि न खाएं।

7 Omega 3 से भरपूर आहार ले

ओमेगा-3 फैटी एसिड एक प्रकार की वसा है। यह शरीर में हार्मोन्स के निर्माण के साथ शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करती है। ओमेगा-3 के नियमित सेवन से रक्त में वसा या ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर नियंत्रित होता है, जिससे हृदय रोगों का जोखिम 50 प्रतिशत तक कम रहता है।शाकाहारी और मांसाहारी दोनों स्रोतों से हमें ओमेगा-3 फैटी एसिड मिलता है।

omega 3 diet

omega 3 diet

यह अखरोट जैसे सूखे मेवों, मूंगफली, अलसी, सूरजमुखी, सरसों के बीज, कनोडिया या सोयाबीन, स्प्राउट्स, टोफू, गोभी, हरी बीन्स, ब्रोकली, शलजम, हरी पत्तेदार सब्जियों और स्ट्रॉबेरी, रसभरी जैसे फलों में काफी मात्रा में पाया जाता है। टय़ूना, सामन, हिलसा, सार्डिन जैसी मछलियां, शैवाल, झींगा जैसे सी-फूड ओमेगा-3 के ईपीए और डीएचए प्रकार के अच्छे स्त्रोत हैं। इसके अलावा गाय का दूध, मूंगफली, अंडे का सेवन भी फायदेमंद है।

8 स्ट्रेस या तनाव काम करे

क्या आप जानते हैं स्ट्रेस हॉर्मोन कोर्टिसोल लम्बे समय के निम्नस्तरीय इन्फ़्लम्मतिओं का करक होता है जो की आपके शरीर में फैट के संचय को बढ़ावा देता है खासकर आपके पेट के हिस्से में ऐसा होता है । वैज्ञानिको का मानना है की जब आप स्ट्रेस में होते है तो ये हॉर्मोन निकलता है और आप ज्यादा कहते हैं जिसे इमोशनल ईटिंग  और इससे इमोशनल ओबेसिटी होती है।

9 अदरक का इस्तेमाल करे

आधे गिलास सादे पानी में अदरक को कुतरकर डालें और पी जाएं। आप चाहें तो इसमें शहद, नींबू और थोड़ा नमक भी मिला सकते हैं। पानी के साथ अदरक का सेवन दिन में तीन बार करने से वजन जल्‍दी कम होता है। अदरक का सेवन चाय के रूप में दिन में दो या तीन बार करें। यह पेट की चर्बी को कम करने के साथ ही वजन को भी नियंत्रित रखता है।

ginger

ginger

10 हैल्दी  स्नैक्स लें

healthy snacks

healthy snacks

वजन घटने के लिए डाइटिंग  ये नहीं की आप अल्पाहार स्नैक्स बंद कर दे। बस अगर आप थोड़े थोड़े अंतराल पे अल्प मात्रा में हेअल्थी स्नैक्स लेते रहे। थोड़े थोड़े मात्रा में नट्स जैसे चना,काजू.,बादाम लेने से या सेब ,तरबूज,संतरा मौसम्बी जैसे फलो का सेवन करनी चाहिए ये लाभदायक  है।

11 नमक काम खाए

अधिक नमक खाने से मोटापा बढ़ता है , इन्सुलिन प्रतिरोधकता,ब्लड प्रेशर ,डाइबिटीज हो सकता है। नमक शरीर में पानी को बनाए रखता है जिससे वजन बढ़ सकता है। अगर आपको सिर्फ एक हफ्ते में पेट की चर्बी घटानी है तो नमक खाना काम कर दे।चिप्स ,फ्राइड स्नैक्स, तली हुई  फूड्स न खाएं।

low salt diet

low salt diet

12 हरी पत्तीदार सब्जिया

हरी सब्‍जी खाने का फायदा कैंसर, हृदय रोग, कोलेस्ट्रॉल घटाने, मोटापा कम करने, हाई ब्लड प्रेशर की समस्या और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य जैसी समस्‍याओं को दूर करने में होते हैं।

Green and Leafy Vegetables

Green and Leafy Vegetables

हरी सब्‍जी खाने के फायदे न केवल स्‍वास्‍थ्‍य बल्कि बालों और त्‍वचा सौंदर्य के लिए भी होते हैं।क्‍योंकि सभी प्रकार की हरी सब्जियों में विटामिन, प्रोटीन, खनिज पदार्थ, फाइबर आदि की उच्‍च मात्रा होती है। ग्रीन सब्जियों में ल्‍यूटिन और जेक्‍सैंथिन (Lutein and Zeaxanthin) जैसे घटक भी होते हैं। इसके अलावा इन सब्जियों में वसा आदि ना के बराबर होते हैं जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है। हरी सब्जियां कार्बोहाइड्रेट की भी अच्‍छी स्रोत मानी जाती हैं जो हमे ऊर्जा प्राप्‍त करने में सहायक होता है।

13 मिक्स कार्डिओ और स्ट्रैन्थ  ट्रेनिंग

व्यायाम करना स्वस्थ्य के लिए अति लाभदायक है और महत्वपूर्ण भी इससे बॉडी टोन अप होता है और फैट मोबिलाइजेशन होता है।कार्डियो एक्सरसाइज से और फेफड़ो की मजबूती बढ़ती है स्टैमिना और क्षमता बढ़ती हैं और फैट काम होता है। अगर आप जिम नहीं जा सकते तो घर पे भी एक्सरसाइज कर सकते हैं वेट लिफ्टिंग ,HIIT ,स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से कैलोरी घटता है  चर्बी काम होती है। 30  मिनट का  कार्डिओ  ट्रेनिंग हफ्ते में तीन दीन करनी चाहिए।

mixed cardio and strength training

mixed cardio and strength training

14 ट्रांस फैट काम करें

ट्रांस फैट अस्वास्थ्यकारी वसा होते हैं जिससे पेट की चर्बी ,ओबेसिटी होती है और इनसे मधुमेह , हाई ब्लड प्रेशर और ब्रैस्ट कैंसर जैसी  होती है। फ़ूड जैसे पिज्जा बर्गर और रेडीमेड सिंथेटिक खाद्य पदार्थों में ट्रांस फैट की  अधिक होती है।

foods with trans-fat

foods with trans-fat

 

15 होल ग्रेन युक्त भोजन ले

साबुत अनाज हमारे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। मोटापा कंट्रोल करने से लेकर कोलेस्ट्रॉल घटाने और कब्ज जैसी गंभीर बीमारी को भी दूर करने में कारगर हैं।

whole grains

whole grains

 मोटे अनाज की खासियत है कि ये आपको चुस्त-दुरुस्त रखने के साथ ही स्लिम-ट्रीम भी रखते हैं। फाइबर से भरपूर मोटा अनाज लंबे समय से चली आ रहे कब्ज और बवासीर जैसी परेशानियों को दूर करने में बहुत ही कारगर होता है। मोटे अनाज में मिनरल्स की बहुत ज्यादा मात्रा में होती है।साबुत अनाज जैसे  जौ , बाजरा,मक्का ,रागी, इत्यादि  होते हैं।

16 अलकोहाल का सेवन न करे

अलकोहाल या शराब पीना शरीर के लिए  से  होता है. अलकोहाल शरीर  में फैट  मेटाबोलिज्म को धीमा  है जिससे मोटापा बढ़ता है। अलकोहाल  से सुस्ती आती है और लिवर की कार्य क्षमता काम हो जाती है जिससे भोजन सही से नहीं पचता है और वसा का जमाव बढ़ता है.डॉयबिटीज   और उच्च  रक्त चाप की संभावना पाई  जाती है।

no alchohol

no alchohol

17 ग्रीन टि और ब्लैक कॉफी ले

ग्रीन टि और  में कैलोरी की मात्रा बिलकुल कम होती है  जाने वाले फ्लवोनोइड्स और अन्य तत्व शारीरिक मेटाबोलिज्म को बढ़ाते हैं और लिपिड मोबिलाइजेशन को बढ़ा देते हैं जिससे  फैट  है।  नियमित इस्तेमाल से अच्छा असर दीखता है। सुबह शाम दिन भर में चार पांच बार ग्रीन टी या ब्लैक कॉफी   हैं.ग्रीन टी के साथ हनी और अदरक भी मिला कर लिया जा सकता है।

green tea black coffee

green tea black coffee

निष्कर्ष

पेट की चर्बी को घटना मुश्किल काम है। लेकिन असंभव नहीं है अगर आप एक प्रॉपर प्लान को फॉलो करें और नियमित डाइट ले।और अपना फोकस जारी रखे कभी भटके नहीं। आप अपने डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं और ये जान सकते हैं की कहीं आपके मोटापे की कोई और वजह भी तो नहीं है? जैसे की अनुवांशिक वसा जमाव और ओबेसिटी। कोई मेडिकल हिस्ट्री या वर्तमान दवाइयों का असर.इन 17 टिप्स को फॉलो करें और निश्चय ही आप जल्द ही पेट की चर्बी और मोटापा काम होता हुआ पाएंगे। सदा स्वस्थ्य रहें।

ये  भी पढ़े :

हेयर लॉस और गंजेपन की समस्या के कारण ,लक्षण और सटीक इलाज के सर्वोत्तम टिप्स

सिरदर्द(headache) के इलाज के लिए सटीक और असरदार नौ देसी नुस्खे

मुँह के छाले के आसान असरदार घरेलु इलाज के लिए 5 टिप्स

Also See: Startup, Startup-Story, Women-Story,   Inspiration,WahBhai-Featured

 

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: