150 करोड़ की लॉटरी के चक्कर में बदमाश बन गया 'शरीफ'

150 करोड़ की लॉटरी के चक्कर में बदमाश बन गया 'शरीफ'

एक ड्राइवर के पास न्यूयॉर्क आॅनलाइन लॉटरी नाम की वेबसाइट से 150 करोड़ रुपये की लॉटरी लगने का मैसेज आता है. वह ड्राइवर अपना जॉब छोड़कर इसी लॉटरी के चक्कर में ऐसा फंसता है कि केरल में कई लोग उसके खिलाफ पुलिस से मदद मांगने लगते हैं.

एक ड्राइवर के पास न्यूयॉर्क आॅनलाइन लॉटरी नाम की वेबसाइट से 150 करोड़ रुपये की लॉटरी लगने का मैसेज आता है. वह ड्राइवर अपना जॉब छोड़कर इसी लॉटरी के चक्कर में ऐसा फंसता है कि केरल में कई लोग उसके खिलाफ पुलिस से मदद मांगने लगते हैं.

  • Share this:
पेशे से ड्राइवर मोहम्मद शरीफ को जब एक मैसेज मिला कि उसकी लॉटरी लग गई है और वह करोड़पति नहीं बल्कि अरबपति हो सकता है तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इसी उत्साह में शरीफ कब बदमाश बन गया, खुद उसे भी खबर नहीं हुई.विदेश में ड्राइवर था शरीफ. दो साल पहले 44 साल के शरीफ का जीवन एकदम सामान्य ढंग से चल रहा था. वह रोज़ गाड़ी चलाता था, चार पैसे कमाता था और कुछ रकम केरल के कोल्लम में रहने वाले अपने परिजनों के पास भिजवा भी देता था. एक दिन अचानक उसके मोबाइल फोन पर मैसेज आया कि उसकी लॉटरी लग गई है और वह 150 करोड़ रुपये का मालिक बन सकता है.

ऐसी करोड़ों की लॉटरी की खबर पाकर कोई और होता तो यकीन नहीं करता या कम से कम चार लोगों से पूछताछ और पड़ताल तो करता लेकिन शरीफ तो शरीफ था. न्यूयॉर्क आॅनलाइन लॉटरी नाम की एक वेबसाइट से उसे यह खबर मिली थी. जबसे यह खबर मिली तो शरीफ दीवाना सा हो गया. सपने देखने लगा कि अब वह करोड़पति हो जाएगा.

उसने जब लॉटरी की रकम पाने के लिए आगे कदम बढ़ाया तो पहले उससे उसके बारे में तमाम जानकारियां मांगी गईं. शरीफ ने सब जानकारियां दे दीं. फिर उसके पास एक मैसेज आया कि चूंकि इतनी पुरस्कार राशि टैक्स के दायरे में आती है इसलिए अगर उसे यह रकम हासिल करना है तो टैक्स की रकम चुका दे फिर यह रकम उसके अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी. इस पर भी शरीफ का उत्साह कम नहीं हुआ और वह जॉब छोड़कर अपने घर यानी कोल्लम चला गया.

आॅनलाइन फ्रॉड, लॉटरी के नाम पर धोखाधड़ी, जाली लॉटरी घोटाला, लॉटरी घोटाला, आॅनलाइन लॉटरी फ्रॉड, online fraud, fraud through lottery, fake lottery scam, lottery scam, online lottery fraud

अब करोड़ों रुपये की रकम के लिए टैक्स भी लाखों करोड़ों रुपये में था और इतनी दौलत तो शरीफ के पास थी नहीं. लॉटरी के लिए उसने कुछ करीबियों से उधार मांगना शुरू किया. अब उधार मांगने से कैसे इतने रुपये इकट्ठे होते, यह सोचे बिना उसने उधार मांगना शुरू किया. कुछ लोगों ने शरीफ को यह पागलपन छोड़ने की सलाह दी तो कुछ ने इस शर्त पर रुपये दे दिए कि उसकी लॉटरी की रकम आते ही ब्याज समेत वापस ले लेंगे.

शरीफ इस लॉटरी के लालच में पूरी तरह आ चुका था. लॉटरी के मैसेज और उस वेबसाइट द्वारा भेजे गए एकाध कागज़ के आधार पर ज़्यादा पैसे नहीं जुटा पा रहा था. अब शरीफ को महसूस हुआ कि इसके लिए कुछ और इंतज़ाम करना होगा. उसने इंटरनेट पर तमाम खोजबीन की और कुछ और लोगों से भी मालूमात हासिल की. इसके बाद अब शरीफ के हाथ में एक लैटर था जिस पर उस वक्त के मुख्यमंत्री के दस्तखत थे.

Loading…

मुख्यमंत्री के दस्तखत के कागज़ को दिखाकर शरीफ ने लोगों को विश्वास दिलाना शुरू किया कि यह कोई जाली खबर नहीं है और उसे वाकई लॉटरी की रकम मिलेगी. इस कागज़ की खबर उड़ते-उड़ते जब पुलिस के पास पहुंची तो साइबर सेल ने शरीफ को पकड़ा और उसे चेतावनी दी कि वह ऐसे फर्ज़ी कागज़ों का इस्तेमाल न करे. खासी डांट लगाकर और शरीफ के माफी मांगने पर उसे छोड़ दिया गया.अब शरीफ को यह तो समझ में आ गया था कि यह लॉटरी का चक्कर बेकार है लेकिन उसके लिए एक नया रास्ता खुल गया था. वह इस तरह के और कागज़ जुगाड़ता चला गया और ऐसे लोगों को तलाशता चला गया जो सूद पर पैसे देते थे. उन्हें इन कागज़ों का हवाला देकर और भरोसे में लेकर लॉटरी लग जाने पर चुकाने की बात कहते हुए शरीफ बड़ी बड़ी रकम ऐंठता रहा.

आॅनलाइन फ्रॉड, लॉटरी के नाम पर धोखाधड़ी, जाली लॉटरी घोटाला, लॉटरी घोटाला, आॅनलाइन लॉटरी फ्रॉड, online fraud, fraud through lottery, fake lottery scam, lottery scam, online lottery fraud

ऐसे ही वक्त गुज़रता गया. न शरीफ की लॉटरी लगी और न देनदारों को उनकी रकम वापस मिल रही थी. इधर, शरीफ उधार की दौलत से ऐश करने में मशगूल था. देनदारों में से कुछ को तो शरीफ का पता तक नहीं चल रहा था कि वह उनसे उधार लेकर गायब कहां हो गया. ऐसे ही परेशान देनदारों ने शरीफ के खिलाफ पुलिस में शिकायतें दर्ज कराते हुए धोखाधड़ी से पैसे लेकर चंपत हो जाने के आरोप लगाए.

नाइजीरियाई रैकेट का खेल!

इन शिकायतों के बाद पुलिस हरकत में आई और कुछ ही वक्त में कोझीकोड से मोहम्मद शरीफ को गिरफ्तार कर लिया. शरीफ की पूरी कहानी और उसके फ्रॉड के डिटेल्स जानने के बाद कोल्लम क्राइम ब्रांच इस आॅनलाइन लॉटरी फ्रॉड की जांच कर रही है. जांच में जो तथ्य सामने आए, उनके आधार पर क्राइम ब्रांच पुलिस ने इंटरपोल से मदद मांगी और इस पूरे सिंडिकेट के पीछे संदिग्ध नाइजीरियन रैकेट तक पहुंचने की कोशिश की. क्राइम ब्रांच के अफसरों की एक टीम आगे की पड़ताल के लिए दिल्ली भी जा चुकी है.

ये भी पढ़ेंः
परिवार मान जाएगा, इस उम्मीद पर चुपके से कर ली थी Court Marriage
नाकाम Online रिश्ते की कहानी ‘कार्तिक Calling रिचर्ड’
कातिल आशिक को पल-पल सिक्योरिटी Update दे रही थी Ambassador की बीवी
Laila Khan हत्याकांड: आधी रात तक Farm House में गूंजा संगीत, फिर चीखें
बीवी ने बनवाया VIDEO जिसमें पति ने कहा ‘कुछ लोगों से है जान का खतरा’

Gallery – झूठ से शुरू हुई दोस्ती ने छीना कामयाब HEROINE बनने का ख़्वाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑनलाइन बिज़नेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 5, 2018, 6:34 PM IST

Loading…

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: